BAARISH LYRICS – SONU KAKKAR, NIKHIL D’SOUZA

Baarish Lyrics Sonu Kakkar, Nikhil D’Souza | Baarish Lyrics in Hindi Sonu Kakkar, Nikhil D’Souza | Lyrics of Baarish Mahira Sharma, Paras Chhabra | Baarish Lyrics Translation |

Latest Hindi 2020 Song Baarish is sung by Sonu Kakkar, Nikhil D’Souza with starring Mahira Sharma, Paras Chhabra. Its music given by Tony Kakkar. Baarish song lyrics are written by Tony Kakkar.

Song Baarish
Singer(s) Sonu Kakkar, Nikhil D’Souza
Composer(s) Tony Kakkar
Actor(s) Mahira Sharma, Paras Chhabra
Lyrics Writer(s) Tony Kakkar
Music Label Desi Music Factory

BAARISH LYRICS IN ENGLISH

Dil Yeh Kanch Ka Hai
Dil Yeh Kanch Ka Hai

Par Iske Tutne Ki Awaaz Na
Kisine Kabhi Suni Hai

Jitna Bhi Sambhalo Yeh Dil
Nahi Hai Sambhal Ta

Dard Kaise Dekhogay Tum Mere Dil Ka
Dard Kaise Dekhogay Tum Mere Dil Ka

Baarish Mein Ansuoo Ka Pata Nahi Chalta
Baarish Mein Ansuoo Ka Pata Nahi Chalta

Teri Meri Kahani Ke Kisse Bade Hain
Tuta Hai Dil Bikhre Hue Hisse Pade Hain

Aaja Tu Aaja Yeh
Dil Yeh Pukare
Pagal Sa Dil Hai
Yeh Kaun Sambhale

Kyu Ho Gaye Tum Mujhse Juda

Pyaar Sachaa Har Kisi Ko Kyu Nahi Milta
Pyaar Sachaa Har Kisi Ko Kyu Nahi Milta
Baarish Mein Ansuoo Ka Pata Nahi Chalta
Baarish Mein Ansuoo Ka Pata Nahi Chalta

Dil Ke Dardon Ki Dawa Hoti Nahi Hai
Ankhe Meri Bhi Bin Tere Soti Nahi Hai

Mohobat Junoon Hai
Khatam Ho Na Paye
Mitna Sakengay
Chahe Hum Mil Na Paye

Adhuri Rahi Main
Adhura Tu Raha

Kya Wajah Hai Jo Tu Mujhse Abb Nahi Milta
Kya Wajah Hai Jo Tu Mujhse Abb Nahi Milta

Baarish Mein Ansuoo Ka Pata Nahi Chalta
Baarish Mein Ansuoo Ka Pata Nahi Chalta

BAARISH LYRICS IN HINDI

दिल ये काँच का है
दिल ये काँच का है

पर इसके टूटने की आवाज़ ना किसी ने कभी सुनी है
जितना भी सम्भालो ये दिल नहीं है संभलता

दर्द कैसे देखोगे तुम मेरे दिल का
दर्द कैसे देखोगे तुम मेरे दिल का
बारिश में आँसुओं का पता नहीं चलता
बारिश में आँसुओं का पता नहीं चलता

तेरी मेरी कहानी के किस्से बड़े हैं
टुटा है दिल बिखरे हुए हिस्से पड़े हैं

आजा तू आजा है दिल ये पुकारे
पागल सा दिल है ये कौन सभांले
क्यों हो गए तुम मुझसे जुदा?

प्यार सच्चा हर किसी को क्यों नहीं मिलता
प्यार सच्चा हर किसी को क्यों नहीं मिलता
बारिश में आँसुओं का पता नहीं चलता
बारिश में आँसुओं का पता नहीं चलता

दिल के दर्दों की दवा होती नहीं है
आँखे मेरी भी बिन तेरे सोती नहीं है

मोहब्बत जूनून है ख़त्म हो न पाए
मिट ना सकेगी चाहे हम मिल न पाये
अधूरी रही मैं, अधूरा तू रहा

क्या वजह है जो तू मुझसे अब नहीं मिलता
क्या वजह है जो तू मुझसे अब नहीं मिलता
बारिश में आँसुओं का पता नहीं चलता
बारिश में आँसुओं का पता नहीं चलता

Leave a Comment